Open Source Software किया हैं |

आज हाम एशे बिशय पर बात करेंगे जिशी के बारेमें ज्यादा लोगु नेही जानेतेहे Computer(कम्पुटर) और Mobile (मोबाइल) में जुभी करिय करते हें | उसभी अलग अलग बिशेष Software (सॉफ्टवेयर) की मदत से करपाते हें . ए Software(सॉफ्टवेयर) अलग अलग program दुयारा लीखे और बिकशित किया जाताहे .अगर आप Computer का student( छात्र) हे या आप Computer (कंप्यूटर) का कुई Course किया हे तू आप Open Source Software का नाम जरुर सुनाही हुगा .
लेकिन आप Computer दुनियासे जुडी इस महतुयपूर्ण trama के बारेमें नेही जानते हे तुफिर आपके परिशानिका हाल Hindiwrit में जरुर मिलेगा. आज हाम Open Source Software के बारे में सारी जानकारी Share करने बाले हें | Open Source software में हिन्दी भाशा मे जानकारी देन्गे (Open Source software in Hindi).

Open Source सॉफ्टवेयर क्या होता हैं ?

सबसे पेहले हम जनते हे की सॉफ्टवेयर Softwar क्या होता हें | आब हम जानेगे Open Source सॉफ्टवेयर क्या होता हैं  | जब कुई ड़ेव्लोपेर अपनी तकनिकी ज्ञान से एक  सॉफ्टवेयर बनता है |
तो उस सॉफ्टवेयर को बनाने के लिए लिखे जनाबाला कोड (Code) को एक लाएसेस के बनाने के लिए फिखे गए सोर्स कोड के एक लाएसेस के साथ सार्वजनिक तौर पर सभी लोगों को उस सॉफ्टवेयर को पढ़ने उसमे सुधार करने और अपनी इच्छा के अनुसार बदलाव करने का अधिकार दे देता हैं| उस सॉफ्टवेयर को Open Source सॉफ्टवेयर कहते हैं | अर्थात ओपन सोर्स ऐसा सॉफ्टवेयर हैं |
जो सोर्स कोड के साथ बनाया जाता हैं | जिसे यूजर द्वारा पढ़ा या संसोधित किया जा सकता हैं | और इसका सोर्स कोड इंटरनेट पर Free of Cost में मिल जाता हैं | Open Source सॉफ्टवेयर को श्रेणी में बैसे सॉफ्टवेयर आते हैं | जिसका सोर्स कोड उस सॉफ्टवेयर के साथ सबके लिए उपलब्ध होता हैं | सामान्य रूप से ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के लिए डेवलपर का समूह जिसे डेवलपर कम्युनिटी भी कहा जाता हैं | यहाँ सब मिलकर काम करते हैं | नेशनल रिसर्च सेंटर ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर फॉर फ्री और ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर NCR Affordable एक सरकारी संगठन हैं |


Open Source Software  का इतिहास

1990 के अंत: ओपन सोर्स इनिशिएटिव की फाउंडेशन
कंप्यूटिंग के शुरुआती दिनों में, प्रोग्रामर और डेवलपर्स ने एक-दूसरे से सीखने और कंप्यूटिंग के क्षेत्र को विकसित करने के लिए सॉफ्टवेयर साझा किया। आखिरकार ओपन सोर्स धारणा 1970-1980 में सॉफ्टवेयर के व्यावसायीकरण के रास्ते में चली गई। हालांकि, शिक्षाविदों ने अक्सर सहयोगी रूप से सॉफ्टवेयर विकसित किया, उदाहरण के लिए 1979 में टीएक्स टाइपसेटिंग सिस्टम या रिचर्ड स्टलमैन के साथ जीएनयू ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ डोनाल्ड न्यूथ। 1997 में, एरिक रेमंड ने द कैथेड्रल एंड द बाज़ार प्रकाशित किया, हैकर समुदाय और मुफ्त सॉफ्टवेयर सिद्धांतों का एक प्रतिबिंबित विश्लेषण। पेपर को 1998 की शुरुआत में महत्वपूर्ण ध्यान दिया गया था, और नेटस्केप कम्युनिकेशंस कॉरपोरेशन को अपने लोकप्रिय नेटस्केप कम्युनिकेटर इंटरनेट सूट को मुफ्त सॉफ्टवेयर के रूप में रिलीज करने के लिए प्रेरित करने में एक कारक था। बाद में यह स्रोत कोड सागरमोकी, मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स, थंडरबर्ड और कॉम्पोजर के पीछे आधार बन गया। 

what is open source software in hindi.Open Source Software किया हैं|
What is Open Source Software in Hindi? Open Source Software किया हैं.
नेटस्केप के कार्य ने रेमंड और अन्य को यह संकेत दिया कि फ्री सॉफ्टवेयर फाउंडेशन के मुफ्त सॉफ्टवेयर विचारों को कैसे लाया जाए और वाणिज्यिक सॉफ्टवेयर उद्योग को लाभ मिले। उन्होंने निष्कर्ष निकाला कि एफएसएफ का सामाजिक सक्रियता नेटस्केप जैसी कंपनियों से अपील नहीं कर रहा था, और सॉफ़्टवेयर स्रोत कोड पर साझा करने और सहयोग करने की व्यावसायिक क्षमता पर जोर देने के लिए मुक्त सॉफ्टवेयर आंदोलन को पुन: ब्रांड करने का एक तरीका तलाश रहा था। उन्होंने जो नया शब्द चुना वह "ओपन सोर्स" था, जिसे जल्द ही ब्रूस पेरेन्स, प्रकाशक टिम ओ'रेली, लिनस टोरवाल्ड्स और अन्य ने अपनाया था। ओपन सोर्स इनिशिएटिव की स्थापना फरवरी 1998 में नई अवधि के उपयोग को प्रोत्साहित करने और ओपन-सोर्स सिद्धांतों को प्रचारित करने के लिए की गई थी।
जबकि ओपन सोर्स इनिशिएटिव ने नए कार्यकाल के उपयोग को प्रोत्साहित करने और उनके द्वारा पालन किए जाने वाले सिद्धांतों को प्रचारित करने की मांग की, वाणिज्यिक सॉफ्टवेयर विक्रेताओं ने स्वतंत्र रूप से वितरित सॉफ्टवेयर की अवधारणा और एप्लिकेशन के स्रोत कोड के सार्वभौमिक पहुंच की अवधारणा को तेजी से धमकी दी। एक माइक्रोसॉफ्ट के कार्यकारी ने सार्वजनिक रूप से 2001 में कहा था कि "ओपन सोर्स एक बौद्धिक संपदा विध्वंसक है। मैं ऐसा कुछ कल्पना नहीं कर सकता जो सॉफ़्टवेयर व्यवसाय और बौद्धिक संपदा व्यवसाय के लिए इससे भी बदतर हो।" हालांकि, नि: शुल्क और खुला -सोर्स सॉफ्टवेयर ने ऐतिहासिक रूप से निजी सॉफ्टवेयर विकास के मुख्यधारा के बाहर एक भूमिका निभाई है, माइक्रोसॉफ्ट के रूप में बड़ी कंपनियों ने इंटरनेट पर आधिकारिक ओपन-सोर्स प्रोजेक्ट विकसित करना शुरू कर दिया है। आईबीएम, ओरेकल, Google और स्टेट फार्म आज के कुछ प्रतिस्पर्धी ओपन-सोर्स मार्केट में गंभीर सार्वजनिक हिस्सेदारी वाली कंपनियों में से कुछ हैं। एफओएसएस के विकास से संबंधित कॉर्पोरेट दर्शन में एक महत्वपूर्ण बदलाव आया है। 
मुफ्त सॉफ्टवेयर आंदोलन 1983 में लॉन्च किया गया था। 1998 में, व्यक्तियों के एक समूह ने वकालत की थी कि मुक्त सॉफ्टवेयर शब्द को ओपन-सोर्स सॉफ्टवेयर (ओएसएस) द्वारा एक अभिव्यक्ति के रूप में प्रतिस्थापित किया जाना चाहिए जो कम अस्पष्ट है और कॉर्पोरेट दुनिया के लिए अधिक आरामदायक। सॉफ़्टवेयर डेवलपर्स अपने सॉफ़्टवेयर को ओपन-सोर्स लाइसेंस के साथ प्रकाशित करना चाहते हैं, ताकि कोई भी एक ही सॉफ्टवेयर विकसित कर सके या इसके आंतरिक कार्य को समझ सके। ओपन-सोर्स सॉफ़्टवेयर के साथ, आम तौर पर किसी को इसे संशोधित करने की अनुमति है, इसे नए ऑपरेटिंग सिस्टम और निर्देश सेट आर्किटेक्चर पर पोर्ट करें, इसे दूसरों के साथ साझा करें या कुछ मामलों में, इसे बाजार दें। विद्वानों कैसन और रयान ने खुले स्रोत को अपनाने के लिए कई नीति-आधारित कारणों की ओर इशारा किया है - विशेष रूप से, निम्नलिखित श्रेणियों में ओपन सोर्स (जब अधिकांश स्वामित्व प्रारूपों की तुलना में) से बढ़ी हुई मूल्य प्रस्ताव:

Free of Cost

High Quality

 Security

  Training

  Control

ओपन सोर्स डेफिनिशन, विशेष रूप से, एक ओपन-सोर्स दर्शन प्रस्तुत करता है, और आगे ओपन-सोर्स सॉफ्टवेयर के उपयोग, संशोधन और पुनर्वितरण की शर्तों को परिभाषित करता है। सॉफ़्टवेयर लाइसेंस उन उपयोगकर्ताओं को अधिकार प्रदान करते हैं जो अन्यथा कॉपीराइट धारक द्वारा कॉपीराइट धारक द्वारा आरक्षित किए जाएंगे। कई ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर लाइसेंस ओपन सोर्स डेफिनिशन की सीमाओं के भीतर योग्यता प्राप्त कर चुके हैं। सबसे प्रमुख और लोकप्रिय उदाहरण जीएनयू जनरल पब्लिक लाइसेंस (जीपीएल) है, जो "इस शर्त के तहत मुफ्त वितरण की अनुमति देता है कि आगे के विकास और अनुप्रयोगों को उसी लाइसेंस के तहत रखा जाता है", इस प्रकार भी निःशुल्क।
नेटस्केप की जनवरी 1998 की नेविगेटर (मोज़िला के रूप में) के स्रोत कोड रिलीज की घोषणा में प्रतिक्रिया के जवाब में 7 अप्रैल, 1998 को पालो अल्टो में आयोजित एक रणनीति सत्र से ओपन सोर्स लेबल आया। सत्र में व्यक्तियों के एक समूह में टिम ओ 'रेली, लिनस टोरवाल्ड्स, टॉम पाक्विन, जेमी ज़विंस्की, लैरी वॉल, ब्रायन बेहेलेन्दोर्फ़, समीर पारेख, एरिक ऑलमैन, ग्रेग ओल्सन, पॉल विक्सि, जॉन ओस्टरहौउट, गिडो वैन रॉसम, फिलिप ज़िमर्मन, जॉन गिलमोर और एरिक एस रेमंड। उन्होंने अंग्रेजी में "फ्री" शब्द की अस्पष्टता के कारण संभावित भ्रम को स्पष्ट करने के लिए नेविगेटर के स्रोत कोड के रिलीज से पहले अवसर का उपयोग किया।
कई लोगों ने दावा किया कि 1969 से इंटरनेट के जन्म ने ओपन सोर्स मूवमेंट शुरू किया, जबकि अन्य ओपन-सोर्स और फ्री सॉफ्टवेयर मूवमेंट्स के बीच अंतर नहीं करते हैं।
फ्री सॉफ्टवेयर फाउंडेशन (एफएसएफ), 1985 में शुरू हुआ, जिसका उद्देश्य "मुक्त" शब्द को वितरित करने की स्वतंत्रता (या "मुक्त भाषण में मुक्त") का इरादा था और लागत से स्वतंत्रता नहीं थी (या "मुक्त बियर में मुक्त")। चूंकि मुफ्त सॉफ्टवेयर का एक बड़ा सौदा पहले से ही था (और अभी भी है) मुफ्त में, इस तरह का मुफ्त सॉफ्टवेयर शून्य लागत से जुड़ा हुआ था, जो एंटी-वाणिज्यिक लग रहा था।
ओपन सोर्स इनिशिएटिव (ओएसआई) का गठन फरवरी 1998 में एरिक रेमंड और ब्रूस पेरेन द्वारा किया गया था। इंटरनेट डेवलपर समुदाय द्वारा पहले से ही खुले विकास के विपरीत बंद सॉफ्टवेयर विकास के मामले के इतिहास से कम से कम 20 साल के साक्ष्य के साथ, ओएसआई ने नेटस्केप जैसे व्यावसायिक व्यवसायों को "ओपन सोर्स" केस प्रस्तुत किया। ओएसआई ने आशा व्यक्त की कि रणनीति सत्र में दूरदर्शिता संस्थान के क्रिस्टीन पीटरसन द्वारा सुझाए गए एक शब्द "ओपन सोर्स" लेबल का उपयोग अस्पष्टता को खत्म कर देगा, खासकर उन व्यक्तियों के लिए जो "मुक्त सॉफ्टवेयर" को एंटी-कमर्शियल मानते हैं। उन्होंने स्वतंत्र रूप से उपलब्ध स्रोत कोड के व्यावहारिक लाभों के लिए एक उच्च प्रोफ़ाइल लाने की मांग की, और वे बड़े सॉफ्टवेयर व्यवसाय और अन्य उच्च तकनीक उद्योगों को खुले स्रोत में लाने के लिए चाहते थे। पेरेन ने ओएसआई के लिए सेवा चिह्न के रूप में "ओपन सोर्स" को पंजीकृत करने का प्रयास किया, लेकिन यह प्रयास ट्रेडमार्क मानकों द्वारा अव्यवहारिक था। इस बीच, नेटस्केप-रेमंड में ऊपरी प्रबंधन में रेमंड के पेपर की प्रस्तुति के कारण केवल प्रेस विज्ञप्ति को पढ़ने पर पता चला, और नेटस्केप के सीईओ जिम बार्क्सडेल के पीए ने बाद में दिन में नेटस्केप को अपना नेविगेटर स्रोत कोड जारी किया अनुकूल परिणाम के साथ खुला स्रोत।

Open Source सॉफ्टवेयर के क्या क्या फायदे होते हैं |

दोस्तों अब जानेंगे Open Source सॉफ्टवेयर के क्या क्या फायदे होते हैं |Open Source सॉफ्टवेयर के फायदे

1 . Free of Cost

Open Source सॉफ्टवेयर के तहत जितने भी सॉफ्टवेयर डेवलप किये जाते हैं | उनको फ्री उपलब्ध करबाया जाता है इस सॉफ्टवेयर के सोर्स कोड भी पूरी तरह फ्री में दिए जाते हैं | जिसे कोई भी modify कर सकता है एक अनुमान से ये पता चला है कि ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के फ्री में मिलने कि बजह से हर साल लोगों कि 60 बिलियन डॉलर कि बचत होती है |

2. High Quality

Open Source सॉफ्टवेयर कि quality commercial सॉफ्टवेयर से भी ज्यादा होती है | क्योंकि इन्हे अलग अलग देशों के डेवलपर अपनी जरूरत के अनुसार सामूहिक प्रयास से बिकसित करते हैं | इसलिए इस सॉफ्टवेयर में हर प्रकार के यूजर का ख्याल रखा जाता है | साथ ही इसमें छोटी मोटी कमियां समय रहते ही ठीक कर दी जाती हैं | यही कारन है कि सॉफ्टवेयर कि quality बहुत अच्छी होती है |

3. Security

Open Source सॉफ्टवेयर बेहतर क्वालिटी के साथ साथ अधिक सुरच्छित भी होते हैं| ये समय समय पर अपडेट भी किये जाते हैं | जहाँ पर इसके bugs और error को भी ठीक किया जाता है | जिससे ये सॉफ्टवेयर पूरी तरह से सुरच्छित हो जाता है | क्योंकि इसमें दुनिया भर के डेवलपर योगदान देते हैं | इसलिए ये बहुत शक्तिशाली भी होते हैं |

4. Training

बहुत से लोग Open Source सॉफ्टवेयर को इसलिए इस्तेमाल करते हैं | क्योंकि इनका प्रयोग करके वो वेहतर प्रोग्राम बना सकते हैं | ये सॉफ्टवेयर ओपन होता है | जिससे कोई भी व्यक्ति इसे देखकर आसानी से प्रोग्रामिंग करना सीख जाता है | इसमें कंप्यूटर सीखने वाले बच्चे भी कोडिंग और प्रोग्रामिंग सीख कर अपनी skills बढ़ा सकते हैं | Open Source सॉफ्टवेयर का सोर्स कोड देखने या एडिट करने के लिए आपको डेवलपमेंट प्लेटफार्म से सोर्स कोड फ्री में मिल जायेंगे | डेवलपमेंट प्लेटफार्म में Git or Github सबसे मशहूर प्लेटफार्म है | जहाँ पर आपको कई सरे ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के सोर्स कोड मिल जायेंगे |

5. Control

Open Source सॉफ्टवेयर के साथ सोर्स कोड भी उपलब्ध करबाए जाते हैं | इसलिए यूजर इनको अपनी ज़रुरत के अनुसार बदलाव भी कर सकते हैं | यूजर को सोर्स कोड में modify करने के लिए पूरा कण्ट्रोल दिया जाता है | Open Source सॉफ्टवेयर के फ्री में मिलने के कारण हर कोई ओपन सोर्स के बिकास में योगदान दे सकता है | ये एक निरंतर बिकास चक्र प्रदान करता है | जो सॉफ्टवेयर को तेज़ी से बढ़ता है और सुधरता है |
तो आशा करता हूँ हूँ दोस्तों अब आपको पता चल गया होगा कि Open Source सॉफ्टवेयर क्या है और ये कैसे काम करता है | मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है कि आपको मेरी ब्लॉग पोस्ट के जरिये सभी बिषय में सारी जानकारी प्राप्त हो सके | ताकि आपको कहीं और न जाना पड़े इस पोस्ट से जुडी कोई भी परेशानी हो तो आप हमें कमेंट में ज़रूर बताएं ताकि हम आपकी परेशानी को जल्द से जल्द दूर कर सकें |
ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर की लाभ
आब चलिए open source Softwares  (oss) के लाभ  के बारे में जानते हैं.
Open Source Softwares allow करता है programmers को एकसाथ सहयोग (collaborate) करने के लिए जिससे को वे  सॉफ्टवेयर को improve कर सके | जिसके लिए वो उसमे  Errors को Fix करते हैं जी की Code में  Bugs fixes जा सकता है, साथ में वी Software को update भी किया जासकता हे, जिससे भी नयो Technology में काम कर सके | इसके आलावा वो इसमे नयी Features भी develop करने में सहायक होने हैं |
इस group collaboration approch से इन open source projects में नयी features भी बहुत जल्दी वी आती है और इन्हें बहुत ही frequently relese किया जाता हैं|
ये software  बहुत ज्यादा stable  होती हैं जिससे जयादा Programmers  इसके Errors की दूड सकते हे. और इसकी Security updates की भी बेहतर रूप से Implement किया जा सकता हैं हसरे proprietary Software programs की तुलना में | open source software अक्सर मुफ्त होते हैं. लेकिन कुछ cases में आपको extra cost pay भी करना हुती है टेक्निकल सपोर्ट और कुछ services के लिए इन software programs.

 

List in Open Source Software. | open source Softwares  का सूची:-


BitTorrent
Blender
Debian
jQuery
Git
DRBD
Python
Qt(Nokia)
MySQL
Mozila Firefox
Mozila Thunderbird
OpenOflfice.org
Selenium
php
OpenStack
Subversion
phpMyAdmin
OpenStackMap
Tor
Perl
Nmap
Vnc
pkgsc
ReactOS
wine
wireshark
NetBSD

Conclusion

हमकू उम्मीद हे की आपको हमारी आर्टिकल ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर क्या होता हैं | (What is Open Source Software  in Hindi ?) जरुर पसंद आई होगी | हमारी हमेशा से यही कूशिश करते है की पढ़नें  ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के बारेमे पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी हसरे site या internet में उस article के संदर्भा में कोजने की जरुरत नही हैं |इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें information भी मिल जायगे | 

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

नया पेज पुराने